अलग सोच | प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story In Hindi

0
48
अलग-सोच-हिंदी-प्रेरणादायक-कहानी-सुविचार-hindi-motivational-story-vb-vijay-bhagat-suvichar-images
अलग-सोच-हिंदी-प्रेरणादायक-कहानी-सुविचार-hindi-motivational-story-suvichar-images

अलग सोच | प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story In Hindi

एक गाँव में एक बहुत ही गरीब किसान रहता था. उसे एक बेटी थी वह भी शादी लायक 
हो गयी थी.
उस किसान ने गाँव के सावकार से भी काफी कर्ज ले रखा था. एक दिन सावकार अपना 
कर्ज मांगने उस किसान की झोपडी में आया. किसान ने कर्ज चकने में असमर्थता दिखाई 
तो सावकार बहुत भला बुरा कहने लगा, तभी किसान की बेटी बहार से आई. 
सावकार किसान की सुंदर बेटी को देखकर दंग रह गया. सावकार के मन में किसान 
की लड़की से शादी का विचार आया.
सावकार बुढा और कुरूप था. सावकार ने तुरंत ही किसान के सामने उसके बेटी से विवाह 
करने की बात कही और सारा कर्ज माफ़ करने का वादा किया. यह सुनकर तो बाप बेटी के 
होश ही उड़ गए…
 
किसान अपने आपको सँभालते हुए बोला… चलो गाँव की पंचायत के पास….
वो जो भी फैसला देगी वो हम दोनों को मंजूर होगा.
सभी मिल कर पंचायत के पास गए और उन्हें सारी बात सुनाया. उनकी बात सुन कर 
पंचायत ने थोडा सोच विचार किया और कहा… ये मामला तो बड़ा उलझा हुआ है…
इसलिए हम इसका फैसला किस्मत पर छोड़ते हैं.  
 
सावकार सामने पड़े सफ़ेद और काले पत्थर के ढेर से एक काला और एक सफ़ेद पत्थर 
उठाकर एक थैले में रख देगा फिर लड़की बिना देखे उस थैले से एक पत्थर उठाएगी
और उस आधार पर उसके पास तीन विकल्प होंगे…

अलग सोच | प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story In Hindi

 
१.    अगर बेटी काला वाला पत्थर उठाती है तो उसे सावकार से शादी करनी पड़ेगी 
      और उसके पिताजी का  सारा कर्ज माफ़ कर दिया जायेगा.
 
२.    अगर बेटी सफ़ेद पत्थर उठाती है तो उसे सावकार से शादी नहीं करनी पड़ेगी 
      और उसके पिता का कर्फ़ भी माफ़ कर दिया जायेगा.
 
३.    अगर बेटी को ये पत्थर उठाने की शर्त मंजूर नहीं है तो उसके पिताजी को
      जेल भेज दिया जायेगा.
 
गाँव की पंचायत के आदेशानुसार सावकार झुका और उसने दो पत्थर उठा लिए. 
जब सावकार पत्थर उठा रहा था तो.. तब तेज आँखों वाली किसान की बेटी ने 
देखा की उस सावकार ने दोनों काले ही पत्थर ही उठाये हैं और उन्हें 
थैले में डाल दिया है.
 
इस स्थिति से घबराये बिना लड़की सोचने लगी कि वो क्या कर सकती है…
उसे तीन रास्ते नज़र आये…..
 
१. वह पत्थर उठाने से मना कर दे और अपने पिताजी को जेल जाने दे.
२. उपस्थित सभी को बता दे की सावकार ने दोनों काले पत्थर उठा कर थैले में रखे है
    और सभी को मुर्ख बना रहा हैं.
 
३. वह चुप रह कर थैले से काला वाला पत्थर उठा ले और अपने पिताजी को कर्ज से 
    बचाने के लिए सावकार से शादी करके अपना जीवन बलिदान कर दे.
 
लड़की सोचने लगी की दूसरा वाला रास्ता अपनाते हुए वह सभी को बता दे… 
लेकिन तभी उसके दिमाग में एक बढ़िया उपाय आया. उसने देर ना करते हुए तुरंत 
उस थैले को हाथ में लिया और आँख बंद करके एक पत्थर थैले से निकाला और 
बगैर देखे गिरने का नाटक करते हुए उस पत्थर को निचे गिरा दिया… 
जहा पहले से ही काफी सफ़ेद और काले पत्थर थे.

अलग सोच | प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story In Hindi

 
लड़की ने कहा – हे भगवान…! मैं कितनी पागल लड़की हूँ…! 
लेकिन कोई बात नहीं… आप लोग थैले के अंदर देख लीजिये कि 
कौन से रंग का पत्थर बचा है…! तब आपको पता चल जायेगा कि मैंने 
कौन सा उठाया था जो मेरे हाथ से गिर गया.
 
थैले में बचा हुआ पत्थर काला था… सब लोगों ने मान लिया कि लड़की ने सफ़ेद 
पत्थर ही उठाया  था. अब सावकार के अंदर तो इतनी हिम्मत नहीं था कि 
वो अपनी चोरी मान ले…!
लड़की ने अपनी सोच से असम्भव को संभव कर दिया.
 
मित्रों…. हमारे जीवन में भी कई बार ऐसी परिस्थितियां आ जाती हैं 
जहाँ सब कुछ ख़त्म हो गया… अब हमारे पास कोई दूसरा रास्ता नहीं है… 
अगर हम कुछ भी करेंगे फिर भी असफलता ही हमारे हाथ आएगी… 
ऐसे समय में हम ना घबराते हुवे थोडा ठन्डे दिमाग से सोचे तो
उस लड़की की तरह ही हमारी भी समस्या को हम दूर कर सकते है…
 
धन्यवाद.

अलग सोच | प्रेरणादायक कहानी | Motivational Story In Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here